Notifications
Clear all

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me

Page 1 / 3

Satish Kumar
Posts: 1092
Admin
Topic starter
Member
Joined: 1 year ago

दिशा के दांये बूब्स के निप्पल के नीचे एक तिल हैं जो उसके बूब्स को और भी सेक्सी बना देता हैं। मैं उसके बूब्स के ऊपर आकर अपनी जीभ को हल्का से बाहर निकाल कर उसके निप्पल को छू दिया। मेरे निप्पल के चुने मात्र से ही दिशा के शरीर में करंट जैसा दौड़ा हो और वो जोर से कहराने लगी।

मेने उसकी समस्या समझते हुए उसके निप्पल पर अपनी जीभ फिराने लगा और फिर उसके निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा। और उसके दूसरे बूब्स को कस कस कर दबाने लगा। अब मैं दिशा के बूब्स को पूरा मुँह खोल कर चूसने लगा और दिशा की हालत पतली होने लगी और उसका एक हाथ मेरे सिर पर था जो मुझे उसके बूब्स पर दबाते जा रहा था और उसका दूसरा हाथ अपनी चूत पर था। दिशा बहुत गर्म हो चुकी थी और वो बहुत ज्यादा हिल रही थी उसकी वजस से उसकी पैंटी उसकी चूत पर से हैट चुकी थी।

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me

Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me:

मैं मार्च में होली के बाद मेरे कुछ ऑफिस के काम से मुंबई गया हुआ था। वहां मेरा प्रोग्राम तक़रीबन २ हफ्ते का था। मेरे होटल में ही सेमिनार था तो मुझे होटल से बहार जाने का बिलकुल भी समय नहीं मिल पा रहा था। लगभग लगातार १३ दिनों की मीटिंग और सेमिनार के बाद मुझे २४ मार्च को मुंबई घूमने का मौका मिला। मेने होटल से ही एक कार किराये पर ले ली और उसी में मुंबई दर्शन के लिए निकल पड़ा।

वैसे मुंबई मैं हर आदमी चाहता हैं की उसको किसी हॉट मॉडल या अभिनेत्री के दर्शन हो जाये और बस इसी मंशा से मैं भी घूम रहा था। मेने मुंबई के गेट वे ऑफ़ इंडिया, मरीन ड्राइव और सदी के महानायक अमिताभ जी का घर भी देखा। अमिताभ जी के दर्शन नहीं हुए।

मुंबई की नाईट लाइफ बहुत फेमस हैं इसीलिए मेने भी नाईट लाइफ देखने और उसको एन्जॉय करने का प्लान बनाया हुआ था। अभी लगभग शाम के 5 बज रहे थे और हम मुंबई के बांद्रा के एरिया में थे। मुझे अब तक किसी भी अभिनेत्री के दर्शन नहीं हुए थे और इसी वजह से मैं थोड़ा उदास था।

मनोज ( ड्राइवर ) जो सुबह से मेरे साथ था और थोड़ा मुझ से खुल भी गया थ। उसने पूछा की सर क्या बात हैं आप कुछ उदास दिख रहे हैं। मेने पहले तो सोचा की इग्नोर कर दू पर फिर मेने उसको बताया की यार कल तो मुंबई से निकल जायूँगा और आज पुरे दिन में एक भी अभिनेत्री के दर्शन नहीं हुए। मैं तो सोच रहा था की मेरी सबसे पसंदीदा अभिनेत्री से भी मिलूंगा पर यहाँ तो कोई भी नहीं दिखी।

मेरी बात सुन कर वो हंसा तो मुझे थोड़ा ग़ुस्सा आया और मेने उसको बोला की हंस रहे हो ये नहीं की किसी एक अभिनेत्री के तो दर्शन करवा देंवे मुझको।

इस पर उसने पूछा की: सर आपकी पसंदीदा अभिनेत्री कौन हैं?

मैं: यार ऐसे तो काइरा, रकूल, सारा, मौनी भी पसंद हैं पर सबसे ज्यादा दिशा पाटनी पसंद हैं।

मेरी बात सुनकर वो फिर हंसा और बोला सर रकूल और सारा तो मेरी भी पसंद हैं पर अभी हम बांद्रा की जिस एरिया में हैं यहाँ दिशा पाटनी का घर आएगा थोड़ा आगे जाकर। आप कहो तो उसके घर के आस पास घडी रोक देता हूँ अगर आपकी किस्मत हुई तो उनके दर्शन हो सकते हैं।

उसकी बात सुनकर मेरी आँखों में भी चमक आ गयी और मैं झट से बोला हाँ sure।

और थोड़ी ही देर बाद मनोज ने कार को रोड के एक साइड रोक दी और रोड के दूसरी और एक घर जिसका नाम था "Little Hut"।

जब मेने उसकी तरफ देखा तो उसने बोला की सर यही दिशा पाटनी का घर हैं।

मैं तुरंत कार से नीचे उतर कर रोड की साइड में खड़ा हो गया। वहां पहले से ही उसके काफी प्रसंशक खड़े थे।

मैं तक़रीबन ३० मिनट बहार इधर उधर घूम रहा था पर न ही दिशा अपनी बालकनी में दिखी और न ही उसकी गाड़ी। मैं पहले से ही उदास था और ३० मिनट इंतजार करने के बाद और उदास हो गया।

इतने में मेरे पास मनोज आया और बोला की सर मुझे तुरंत निकलना पड़ेगा क्योंकि उसकी वाइफ की आज डिलीवरी हैं और वो अब हॉस्पिटल में हैं।

मेने घडी में टाइम देखा ५:५० हो रहे थे और मैं अभी भी और घूमना छह रहा था। मेने उसको एडवांस में बधाई देकर कहा की तुम जाओ मैं दूसरी टैक्सी कर लूंगा। इतना बोल कर मेने उसको मेरी तरफ से २००० rs दिए और वापस रोड पर घूमने लगा।

मेने लगभग १ घंटे और दिशा पाटनी की एक झलक पाने के लिए वही उसके घर के सामने वेट किया पर वो नहीं दिखी। पर थोड़ी देर बाद उसके बंगलो का गेट खुला और एक कार जिसमे सारे कांच काळा रंग के थे। कार तेज़ी से बहार आयी और फिर रोड पर तेज़ी से निकल गयी। वह कुछ मीडिया और मैगज़ीन वाले भी थे वो कार के निकलते ही अपने केमरे से फ़्लैश मारने लगे। और फिर वह से थोड़ी देर में भीड़ काम होने लगी। मुझे समझते देर नहीं लगी की दिशा अपनी कार में बहार जा चुकी और अब मेरा भी यहाँ उसकी एक झलक के लिए इंतजार करना व्यर्थ हैं और इसी उदासी से मेने वापस होटल जाने का विचार किया और मेने एक टैक्सी को रुकने का इशारा किया।

एक टैक्सी मेरे पास आकर रुकी और में मेरी साइड के दरवाजे को खोल कर जैसे ही अंदर घुसा वैसे ही टैक्सी के दूसरी साइड का दरवाजा भी किसी ने खोला और अंदर घुस गया। उसने अपने सर पर हुड पहने हुई थी।

मेने उसकी तरफ ये बोलते हुए देखा की ये टैक्सी मेने बुलाई हैं,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, और इसके साथ ही मेरी आवाज मेरे गले में ही अटक गयी।

वो कोई और नहीं खुद दिशा पाटनी थी और वो मेरी तरफ चुप रहने का इशारा कर रही थी और धीरे से बोली की प्लीज अभी यहाँ से टैक्सी शेयर कर लो मैं आगे उतर कर टैक्सी चेंज कर लुंगी। मैं जिसका पिछले घंटे भर से इंतजार कर रहा था और ये सोच कर की वो अपनी कार में निकल चुकी हैं वो स्वयं मेरे सामने मुझ से टैक्सी शेयर करने को बोल रही थी।

मेने उसकी तरफ सर से हाँ करते हुए उसके साथ टैक्सी में बैठ गया और उसकी तरफ देखने लगा। उसने हल्का मेक उप किया था और उसने होटों पर हल्की गुलाबी लिपस्टिक लगाई हुई थी। जब में उसकी तरफ देख रहा था तो वो मेरी तरफ देख कर बोली की प्लीज ड्राइवर को यहाँ से चलने के लिए बोलो।

मेने उसको बोला मैं तो मुंबई में नया हूँ और वापस होटल जा रहा था। तुम बता दो तुम्हे कहा जाना हैं तुमको ड्राप करते हुए मैं वापस होटल चला जायूँगा।

उसने ड्राइवर की तरफ मुँह करके बोला की "वीले पार्ले ले लो क्लब Sirkus"।

ड्राइवर ने एक बार बैक मिरर में देखा और गर्दन को हाँ में हिलाते हुए टैक्सी को वीले पार्ले की तरफ ले चला।

अब मैं टेडी टेडी नजरों से दिशा की तरफ देखने लगा और मेरा उससे बात करने का मन करने लगा। पर दिशा एक दम चुप चाप अपने मोबाइल में लगी हुआ थी। और फिर अचानक उसने अपना मोबाइल बंद किया और ऊपर पहनी हुई अपनी जैकेट को खोल कर साइड में रख दिया।

उसके जैकेट के उतारते ही उसकी १ पीस की नीले रंग की ड्रेस दिखी। उसके खुले बाल थोड़े ब्राउन रंग के थे और उसके कंधो तक आ रहे थे उसने बहुत ही अच्छे से ऑय लाइनर किया हुआ था। गले में एक लॉकेट चैन पहनी हुई थी और उसके पास एक वाइट रंग का पर्स था।

उसकी ड्रेस उसके कंधो के नीचे से स्टार्ट हो रही थी जिस वजह से उसके बूब्स के उभार ( क्लीवेज ) बहुत ही गजब डहर खा रहे थे। उसकी ड्रेस उसके जांघों तक ही थी और ड्रेस ऊपर से लेकर नीचे तक एक दम टाइट थी। उसने अपने दोनों गौरे गौरे हाथों में एक कंगन पहना हुआ था। और उसके केले जैसी टाँगे जो एक दम मखमल जैसी लग रही थी। उसने नीचे ब्राउन रंग के हिल वाले जूते पहने थे। कुल मिलाकर दिशा बहुत ही मस्त और हॉट लग रही थी।

मैं जब उसकी पहली झलक देख रहा था तो उसने मेरी तरफ देख कर स्माइल करते हुए बोली की अब इसकी ( जैकेट ) कोई जरुरत नहीं हैं। और मेरी तरफ हाथ बढ़ाते हुए बोली क्या नाम हैं तुम्हारा।

मेने तुरंत उसके हाथ को अपने हाथों में लेकर अपना नाम बताया: hi दिशा मेम! मेरा नाम श्याम हैं। पर मेरी नजर उसके बूब्स के उभारों से हट ही नहीं रही थी। जिसको शायद उसने भी देख लिया था। फिर उसके और मेरे बीच बात चित होने लगी और मेने उसको पूछा: "क्या आपसे एक बात पूछ सकता हूँ?"

दिशा ने कहा बोलो क्या पूछना हैं?

आप इस तरीके से टैक्सी में क्यों बैठी जबकि आपके पास तो आपकी खुद की गाड़ी हैं और टैक्सी में आप जैसी एक्ट्रेस को सफर करना खतरे से खली नहीं हैं।

इस पर दिशा बोली की मेरे घर के बहार मीडिया और मैगज़ीन वाले अक्सर खड़े रहते हैं और कुछ मैगज़ीन वाले तो मेरी गाड़ी का भी पीछा करते रहते हैं जिस वजह से पर्सनल लाइफ तो हम लोग बिलकुल भी एन्जॉय नहीं कर पते हैं। आज हमारा डिस्को क्लब का प्रोग्राम बना हैं पर ये मैगज़ीन वालों से पीछा छुड़ाने के लिए मेने पहले अपनी खली गाड़ी आगे भिजवा कर मैं खुद टैक्सी से डिस्को क्लब तक जयुंगी।

उसके मुँह से हम सब्द सुनकर मैं तपाक से बोला "सॉरी पर हम कौन?"

इस पर वो जोर से हंसी और बोली की टाइगर और कौन।

फिर उसने मुझसे मेरे बारे में पूछा मेने उसको मेरे बारे में सब बताया और मुंबई आने की वजह भी। मेरी पूरी बात सुनने के बाद वो बोली: "ओ तो जनाब खुद को हमारा बहुत बड़ा फैन बताते हैं और मुंबई में हमारे घर के सामने १ घंटा इंतजार करके थक भी गए और मुंबई की नाईट लाइफ देखे बगैर ही वापस जा रहे हैं।

चलो अब तो आप हमसे मिल भी लिए तो आप मुंबई की नाईट लाइफ देख सकते हैं।"

उसके इतना बोलते ही मैं कुछ बोलता उससे पहले ड्राइवर ने बोला की मेम आपका क्लब आ गया हैं। मेने घडी में टाइम देखा तो केवल २० मिनट में ही हम क्लब पहुँच गए थे और मैं ये सोच कर वापस उदास हो गया की दिशा मेम अब वापस चली जाएगी पर मैं साथ ही खुश भी था की मुझे उनके साथ २० मिनट बिताने का मौका मिला जो शायद ही किसी फैन को मिले।

To be Continued

Reply
14 Replies
Satish Kumar
Posts: 1092
Admin
Topic starter
Member
Joined: 1 year ago

"ओ तो जनाब खुद को हमारा बहुत बड़ा फैन बताते हैं और मुंबई में हमारे घर के सामने १ घंटा इंतजार करके थक भी गए और मुंबई की नाईट लाइफ देखे बगैर ही वापस जा रहे हैं।

चलो अब तो आप हमसे मिल भी लिए तो आप मुंबई की नाईट लाइफ देख सकते हैं।"

उसके इतना बोलते ही मैं कुछ बोलता उससे पहले ड्राइवर ने बोला की मेम आपका क्लब आ गया हैं। मेने घडी में टाइम देखा तो केवल २० मिनट में ही हम क्लब पहुँच गए थे और मैं ये सोच कर वापस उदास हो गया की दिशा मेम अब वापस चली जाएगी पर मैं साथ ही खुश भी था की मुझे उनके साथ २० मिनट बिताने का मौका मिला जो शायद ही किसी फैन को मिले।

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me | EP 2

दिशा ने मेरी तरफ देखा और बोला क्या हुआ मुंबई की नाईट लाइफ नहीं देखनी? मैं कुछ समझता उससे पहले ही उसने बोला आओ तुम मेरे साथ इस क्लब में चल सकते हो और मुंबई की नाईट लाइफ का आनंद ले सकते हो।

मैं उसकी तरफ थोड़े अचंबित हो कर देखा तो उसने बोला तुम मेरे फैन हो और मुझे टैक्सी भी शेयर करने दी और फिर मुंबई में मेहमान हो तो तुम्हारे लिए इतना तो बनता हैं। और उसने ये कह कर मेरी तरफ आँख मार दी।

उसके इस तरह से कहने पर मैं खुद को रोक नहीं पाया और टैक्सी का पेमेंट करके बहार आ गया। पर अब भी मैं थोड़ा नर्वस था। उसने पूछा ये मिस्टर क्या हुआ? तो मेने उसको बोला की तुम यहाँ टाइगर के साथ,,,,,,,,,,,, मैं कुछ और बोल पता इससे पहले ही दिशा बहुत जोर जोर से हंसने लगी और बोली की मैं यहाँ डेट पर नहीं आयी हूँ बल्कि मैं टाइगर और हमारे कुछ दोस्त केवल मस्ती करने आये हैं और तुम भी अब मेरे दोस्त की तरह मेरे साथ क्लब में चलोगे।

मैं अब भी थोड़ा नर्वस था पर मेने गर्दन हिला कर इशारे से हामी भर दी।

तभी दिशा को किसी ने आवाज लगायी और वो और कोई नहीं बल्कि खुद टाइगर था। और दिशा टाइगर की तरफ दौड कर उसके गले लग गयी।

जब दिशा मुड़कर टाइगर की तरफ जा रही थी तो मेरे मुँह से आह निकल गया क्योंकि अब मेने दिशा को पीछे से उसकी टाइट फिटिंग ड्रेस में देखा जो उसके नितम्बो से थोड़ा निचे था। और उसकी दूध सी सफ़ेद और मांसल जांघें बहुत मस्त लग रही थी। जब वो दौड कर गयी तो उसकी गोल गोल गांड बहुत मस्त लग रही थी और मन कर रहा था की एक बार इनको पकड़ कर अच्छे से दबा दू।

मैं मेरे ही ख्यालों में खोया था की मुझे मेरे कंधे पर किसी का हाथ महसूस हुआ और जैसे वो मुझे नींद से जगा रहा हो। मैं ख्यालों से बहार आया तो देखा दिशा मेरे पास खड़ी हैं और मुझे आवाज दे रही हैं श्याम,,,,,,,,,,,,, श्याम।

और मेरे होश में आते ही वो बोली कहा खो गए कब से आवाज दे रही हु पर कोई जवाब नहीं दे रहे हो। ( मैं इतना ख्यालों में खो गया था की दिशा कब टाइगर से वापस मेरे पास आकर खड़ी हो गयी मुझे पता ही नहीं चला। मैं कुछ बोलता उससे पहले ही दिशा बोली चलो तुमको मेरे बाकि दोस्तों से मिलती हूँऔर फिर क्लब में चलते हैं।

और इतना कह कर वो मेरा हाथ पकड़ कर अपने दोस्तों के पास ले गयी और सबसे पहले मुझे टाइगर से मिलवाय। टाइगर को देखते ही मैं बहुत खुश हो गया और सोचने लगा की कहा पुरे दिन में एक भी स्टार नहीं मिला और अब एक साथ २-२ स्टार से मिलना हो गया।

टाइगर बहुत कूल बंदा हैं उसने मुझे बहुत अच्छे से ट्रीट किया और मुझे बिलकुल भी अपने एक्टर होने का घमंड नहीं दिखाया। थोड़ी देर में इनके सारे दोस्तों से मिलने के बाद हम क्लब में प्रवेश हो गए।

दोस्तों इस समय तक लगभग ८ बजने को आ गए थे और क्लब में एंट्री करते ही मोबाइल को साइलेंट पर करो या न करो एक ही बात थी क्योंकि इतना लाउड म्यूजिक बज रहा था की मोबाइल की घंटी बिलकुल भी नहीं सुनाई दे सकती थी।

और फिर हम सब क्लब में ड्रिंक्स करते हुए डांस और मस्ती करने लगे और मुझे इतना मजा आया की कितना टाइम निकल गया ये पता ही नहीं चला। पर अचानक टाइगर श्रॉफ किसी से लड़ लिया ( शायद किसी ने दिशा से बतमीजी करी थी )।

टाइगर और दिशा के दोस्त स्तिथि को सँभालने में लग गए और मेने देखा की दिशा एक तरफ ये सब देख कर थोड़ा उदास हो गयी थी।

मैं दिशा के पास गया और उसको पूछा "क्या तुम ठीक हो?"

पहले तो उसने कोई जवाब नहीं दिया फिर थोड़ी देर बाद बोली की वो देखो सामने वो जो नीली शर्ट में लड़का हैं वो मेरी कॉलेज में पढ़ताथा और मुझे लाइक करता है। पिछले साल नव वर्ष की पार्टी में इसने मेरे साथ बतमीजी की थी और फिर इसको हमें जेल भेजना पड़ा था।

ये शायद अब जेल से छूट गया हैं और छूटते ही आज वापस यहाँ आ कर मेरे साथ बतमीजी कर रहा हैं और इस बार टाइगर ने इसको पंच भी मारा हैं। वो मुझ से बोली की तुम एक काम करो पहले टाइगर को यहाँ से रवाना करो वरना हो सकता हैं की वो किसी मुसीबत में फस जाये।

मेने उसकी तरफ एक मिनट रुकने का बोल कर टाइगर के दोस्तों के पास गया और उनको टाइगर को वहां से उसके घर ले जाने को कहा। उन्होंने भी स्तिथि की गंभीरता को समझते हुए टाइगर को वहाँ से ले गए और जाते हुए दिशा को भी बोले की आप भी घर के लिए निकलो।

जब मेने पता किया तो मालूम हुआ की वो बदमाश वह से जा चूका था और अब क्लब भी लगभग खली होने लगा था।

दिशा ने अपने ड्राइवर को कॉल करने के लिए मोबाइल निकाला पर उसके मोबाइल की बेटरी ख़त्म हो चुकी थी। एक बार को टेंशन में आ गयी क्योंकि उसके सारे दोस्त जा चुके थे ( क्योंकि किसी को भी ये नहीं पता था की दिशा आज अपनी कार में नहीं बल्कि टैक्सी में आयी हैं ) फिर उसने मेरी तरफ देखा और थोड़ी रिलेक्स हुई फिर बोली की श्याम एक बार मुझे अपना मोबाइल दोगे प्लीज।

मेने मेरा मोबाइल उसको दे दिया और उसने मेरे मोबाइल को जैसे ही अनलॉक ( सिंपल स्वैप लॉक। मैं पासवर्ड नहीं रखता ) किया तो बोली "श्याम इसमें तो २३ मिस कॉल आये हुआ हैं" मेने झट से मोबाइल चेक किया तो लगभग २१ मिस कॉल मेरे घर से आये हुए थे और बाकि २ fake कॉल थे।

२१ कॉल देख कर मैं थोड़ा टेंशन में आ गया पर फिर भी मेने सोचा की पहले दिशा को उसकी कार में बिठा दू फिर घर पर बात करता हूँ। और मेने दिशा को बोला की तुम अपने ड्राइवर को कॉल करके बुला लो। और दिशा ने अपने ड्राइवर को मेरे फ़ोन से कॉल करके आने को बोल दिया।

दिशा के बात करने के बाद मेने जब अपने घर कॉल किया तो मुझे देश में आज रात से लगने वाले lockdown की खबर मिली जो मेरे लिए ज्यादा टेंशन वाली बात थी। क्योंकि मुझे २५ को ही वापस मुंबई से बस के जरिये निकलना था।

मेरे चेहरे पर टेंशन देख कर दिशा ने मुझे कारण पूछा तो मेने उसको lockdown के बारे में बता दिया। इस पर दिशा ने स्माइल की और बोली कोई बात नहीं मेरी गाड़ी से मैं तुमको तुम्हारे होटल पहुंचा दूंगी पर तुमको अब २१ दिन मुंबई में होटल में ही रहना पड़ेगा।

मेने मन ही मन थोड़ा विचार किया पर अब मजबूरी थी तो कुछ कर भी नहीं सकता था और मेने हाँ में सिर हिला दिया। थोड़ी देर बाद मेरे फ़ोन पर दिशा के ड्राइवर का कॉल आता हैं और वो बोलता हैं की मेम गाड़ी तो पंक्चर हो गयी हैं और आने में थोड़ा और टाइम लगेगा।

इस पर वो मेरी तरफ देखने लगी तो मेने उसको बोला की हम बहार जा कर खड़े हो जाते हैं और थोड़ी ताज़ी हवा लेते हैं। अब हम दोनों क्लब के बहार आ कर खड़े हो जाते हैं और ठंडी हवा का मजे लेने लगते हैं।

तभी मेने देखा की जो लड़का अंदर दिशा से बतमीजी कर रहा था वो अपने २ दोस्तों के साथ थोड़ी दूर खड़ा था और दिशा को बहार आया देख वो दिशा की तरफ आने लगा। उसको आता देख में समझ गया की कोई प्रॉब्लम कड़ी हो सकती हैं तो मेने झट से पास कड़ी टैक्सी को इशारा किया और उसके रुकते ही दिशा को उसमे बैठने को बोला। दिशा एक बार तो समझ नहीं पायी पर फिर उसने भी उस लड़के को सड़क पार से आते हुए देखा तो जल्दी से टैक्सी में बेथ गयी और हमने टैक्सी वाले को वहाँ से जल्दी से चलने को कहा।

हमे टैक्सी में जाता देख उस बदमाश लड़के के दोनों दोस्त जल्दी से अपनी बाइक स्टार्ट की और फिर वो तीनो हमरी टैक्सी का पीछा करने लगे।

मेने स्तिथि को समझते हुए टैक्सी ड्राइवर को बोला की आप कुछ भी हो गाड़ी मत रोकना और उसको मेने दिशा की असली पहचान भी बता दी ताकि वो भी स्तिथि को समझ ले।

और उसने भी गाड़ी की स्पीड तेज़ कर दी परन्तु वो बाइक वाले जल्दी ही हमरे टैक्सी के बराबर आ गए और उस बदमाश लड़के ने अपने हाथ में चैन जैसा कुछ लिया हुआ था और टैक्सी ड्राइवर को गाड़ी रोकने के लिए धमका रहे थे।

पर उसने टैक्सी नहीं रोकी और गाड़ी और तेज़ चलाने लगा। इससे बाइक वाले हमसे पिछड़ने लगे परन्तु उन्होंने बाइक की स्पीड बढ़ाकर वापस हमारे पास आने लगे और उस लड़के ने अपने हाथ में ली हुई चैन से मेरी साइड के कांच पर जोर से वार किया और मेरी साइड का कांच टूट कर पर ऊपर गिरा।

ये देख कर दिशा एक डैम डर गयी परन्तु टैक्सी ड्राइवर समझदार था और उसने वापस गाड़ी को खिंचा और तब तक एक डैम तेज़ी से चलाया की जब तक हम दिशा के घर "Little Hut" नहीं पहुँच गए।

दिशा ने जल्दी से अपने गार्ड को दरवाजा खोलने को बोला और टैक्सी को अंदर ले गए।

जब टैक्सी अंदर जा रही थी तो मेने पीछे वाले कांच से देखा की दोनों बाइकर वहाँ से तेज़ी से चिलाते हुए निकले की "दिशा एक दिन हम तेरी चूत फाड़ देंगे"

To be Continued

Reply
Satish Kumar
Posts: 1092
Admin
Topic starter
Member
Joined: 1 year ago

ये देख कर दिशा एक डैम डर गयी परन्तु टैक्सी ड्राइवर समझदार था और उसने वापस गाड़ी को खिंचा और तब तक एक डैम तेज़ी से चलाया की जब तक हम दिशा के घर "Little Hut" नहीं पहुँच गए।

दिशा ने जल्दी से अपने गार्ड को दरवाजा खोलने को बोला और टैक्सी को अंदर ले गए।

जब टैक्सी अंदर जा रही थी तो मेने पीछे वाले कांच से देखा की दोनों बाइकर वहाँ से तेज़ी से चिलाते हुए निकले की "दिशा एक दिन हम तेरी चूत फाड़ देंगे"

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me | EP 3

गाडी अंदर आने के बाद दिशा जल्दी से कार से उतरी और मेरी साइड का दरवाजा खोल कर मुझे चेक करने लगी। उसकी आँखों में मेरे लिए चिंता थी क्योकि वो हमला उसके लिए था और चोट मुझे लगी थी।

मेने उसको बोला की मेम मुझे कही नहीं लगी पर वो सुनने को ही तैयार नहीं थी क्योंकि उसको मेरी टी-शर्ट पर खून दिख रहा था। उसने अपने दोनों गार्ड को बोला की तुम श्याम को ऊपर ले कर चलो और किसी डॉक्टर को कॉल करो।

और उसने टैक्सी वाले को धन्यवाद् बोला और उसको किराया और उसकी गाड़ी के हुए नुकसान का भी पैसा दे कर रवाना कर दिया। और फिर मुझे अपने गार्ड के साथ ऊपर ले गयी। तभी उसके दूसरे गार्ड ने बोला की मेम अभी तो कोई डॉक्टर नहीं आ सकते हैं क्योंकि आज रात से lockdown लग गया हैं और ज्यादातर डॉक्टर कोरोना में व्यस्त हैं और कुछ अभी नहीं आ सकते हैं।

दिशा ने कुछ देर तक सोचा और फिर अपने गार्ड को वापस अपनी ड्यूटी पर जाने को बोल दिया।

फिर दिशा ने मुझे अपने घर के किसी एक रूम में बैठाया और फिर फ्रीज से ठंडा पानी दे कर मेरे लिए टीवी चालू कर के वो खुद दूसरे रूम में चली गयी और किसी से बात करने लगी।

मेने पानी पी कर सबसे पहले न्यूज़ लगाया और lockdown की न्यूज़ देखने लगा और मुझे पता चला की अब मैं १४ अप्रैल तक यही मुंबई में फस गया हूँ और मैं कैसे भी घर नहीं जा सकता हूँ। मैं दिशा का वेट करने लगा और थोड़ी देर बाद दिशा फ़ोन पर बात करती हुई मेरे सामने आयी। उसके आते ही मेने उसको बोला दिशा एक मिनट मेरी बात सुनोगे।

दिशा मेरे पास आयी और फ़ोन होल्ड करके बोली "क्या हुआ श्याम"। मेने उसको बोला की मेम अब मुझे निकलना चाहिए इस पर दिशा बोली की आज रात को तुमको यही रुकना पड़ेगा क्योंकि अब सब जगह नाकाबंदी हो गयी हैं और तुम होटल नहीं जा पाओगे। यहाँ तक की मेरा ड्राइवर भी बोल रहा हैं की मेम "मैं कार सुबह ही ला पायूँगा अभी तो नाकाबंदी कर दी गयी हैं और पुलिस किसी VIP को भी छूट नहीं दे रही हैं।" मेरा ड्राइवर अभी तो अपने घर के पास ही था तो कार अपने घर ले गया हैं सुबह आएगा तो तुमको होटल छोड़ देगा।

मेरे लिए ये ख़ुशी और गम दोनों वाली बात थी। गम इसीलिए की इतनी सख्ती हैं तो मुझे २१ दिन मुंबई में ही निकालने पड़ेंगे ये कन्फर्म था और ख़ुशी इसकी की एक रात दिशा के साथ उसके घर में बिताने को मिल रहा हैं।

फिर अचानक उसने मुझे मेरी टी शर्ट उतारने को बोला। मैं थोड़ा असहज हो गया उसकी ये बात सुनकर तो उसने वापस बोला श्याम जल्दी अपनी टी शर्ट उतारो और मुझे तुम्हारी चोट देखने दो, लाइन पर मेरी फैमिली डॉक्टर हैं और वो इलाज बता रही हैं।

मैं थोड़ा असहज था परन्तु उसकी बात सुनकर थोड़ा सहज हुआ और अपनी टी शार्ट उतार दी। मेरे टी शार्ट उतारते ही दिशा मेरी बॉडी की तरफ देखने लगी और जब २-३ मिनट तक वो कुछ नहीं बोली तो मेने उसको आवाज दे कर बोला दिशा क्या मैं टी शर्ट वापस पहन लू

मेरी आवाज से दिशा जैसे नींद से जागी हो और वो होश में आते ही पहले शब्द उसके मुँह से निकला "wow nice body and six pack "

उसके इतना बोलते ही मैं थोड़ा शर्मा गया और शायद उसको भी लगा की उसने ये क्या बोल दिया और दिशा ने तुरंत अपनी बात पर से मेरा ध्यान हटाने के लिए मेरे पास आकर मेरे कंधे और सीने पर खून के धब्बे देखने लगी और चोट कहा लगी हैं वो चेक करने लगी।

थोड़ी देर में जब उसका हाथ मेरे बाये कंधे के ऊपर लगा तो मुझे थोड़ा दर्द हुआ और दिशा ने जब वहाँ चेक किया तो एक कांच का टुकड़ा मेरे कंधे के ऊपरी हिस्से में लग गया था और वही से थोड़ा बहुत खून मेरी टी शर्ट कंधे और सीने पर लग गया था।

उसने तुरंत अपने डॉक्टर को मेरी चोट बताई और बताया की ब्लड तो नहीं आ रहा हैं परन्तु कांच अब भी मेरे कंधे में लगा गए हैं।

उसकी डॉक्टर ने उसको कांच निकाल कर पट्टी करने को कहा। दिशा ने कुछ देर और फ़ोन पर बात करी और फिर थोड़ी देर बाद वो मेरे पास आयी। उसके हाथ में पानी से भरा हुआ एक प्लास्टिक का डब्बा था और दूसरे हाथ में first aid box था।

यहाँ मैं आपको इतना बड़ा हूँ की मैं रोज जिम करने वाला बंदा हूँ और लगभग २ घंटे रोज जिम करता हूँ। मेरी बॉडी टाइगर श्रॉफ जैसी तो नहीं पर मेरी बॉडी पर मेरे जिम की मेहनत काफी अच्छे से दिखती हैं जिसमे मेरे सिक्स पैक एब्स, परफेक्ट मसल्स ऑन चेस्ट एंड परफेक्ट शेप ऑफ़ बॉडी।

अब दिशा बेड पर चढ़ कर मेरे बिलकुल पीछे आ गयी और वहांएक तरफ सारा सामान रख कर मेरी चोट को साफ़ करने लगी। अभी तक दिशा ने अपनी ड्रेस चेंज नहीं की थी और उसकी परफ्यूम की बहुत अच्छी सुगंध आ रही थी। मेने एक बार मेरी गर्दन पीछे ले जाते हुए दिशा को देखा। दिशा थोड़ा झुकी हुई थी तो मुझे वापस उसके बड़े बड़े बूब्स उसकी ड्रेस के गले से दिखने लगे (केवल उसके बूब्स के ऊपरी हिस्से) ड्रेस काफी तंग होने की वजह से ये पता नही चल रहा था की उसने अंदर ब्रा पहनी हैं या नहीं।

पर उसके बूब्स की शेप से ही मेरा लन्ड पैंट में अपना सर उठाने लगा था। और इस वजह से में मेरे लन्ड को थोड़ा एडजस्ट करने के लिए हिलने लगा। दिशा को पहले तो लगा की मुझे दर्द हो रहा हैं इस वजह से मैं हिल रहा हूँ पर शायद थोड़ी ही देर में वो मेरी स्तिथि समझ गयी और मुश्कुराते हुए मेरे कंधे से कांच के टुकड़े को निकालने लगी।

कांच के टुकड़े के निकलते ही कंधे से हल्का सा खून आने लगा जिसको दिशा ने तुरंत कॉटन से साफ़ करके वहां क्रीम लगा कर पट्टी कर दी। मेने घडी में टाइम देखा तो लगभग १ बज रहे थे। मेने दिशा को बोला की प्लीज आप चोट को वाटरप्रूफ टेप से कवर कर दे। ताकि मैं गर्म पानी से नहाकर थोड़ा फ्रेश हो जाऊ। और उसने मेरी पट्टी को अच्छे से वाटरप्रूफ टेप से कवर कर दिया।

दिशा ने मुझे बोला की तुम यही आराम करो में कुछ खाने का इंतजाम करती हूँ इस पर मेने उसको बोला की मुझे भूख नहीं हैं क्योंकि वहां क्लब में ही बहुत कुछ खा लिया था और जो हलकी भूख थी वो अभी इस भाग दौड़ में ख़त्म हो गयी। इस पर दिशा कुछ नहीं बोली और उठ कर बहार चली गयी और थोड़ी देर बाद वापस आयी। अब उसके हाथ में २ वाइन गिलास और रेड वाइन की बोतल थी।

To be Continued

Reply
Satish Kumar
Posts: 1092
Admin
Topic starter
Member
Joined: 1 year ago

दिशा ने मुझे बोला की तुम यही आराम करो में कुछ खाने का इंतजाम करती हूँ इस पर मेने उसको बोला की मुझे भूख नहीं हैं क्योंकि वहां क्लब में ही बहुत कुछ खा लिया था और जो हलकी भूख थी वो अभी इस भाग दौड़ में ख़त्म हो गयी। इस पर दिशा कुछ नहीं बोली और उठ कर बहार चली गयी और थोड़ी देर बाद वापस आयी। अब उसके हाथ में २ वाइन गिलास और रेड वाइन की बोतल थी।

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me | EP 4

मेने उसकी तरफ सवालिया नज़रों से देखा तो उसने बोला की तुम्हे इससे दर्द में आराम मिलेगा और नींद भी अच्छी आ जाएगी।

मेरे कुछ बोलने से पहले ही उसने वापस बोला की "और मुझे भी आज जो हुआ हैं उसकी वजह से नींद नहीं आएगी तो प्लीज मेरे साथ १ गिलास ही सही प्लीज मुझे कंपनी दो।"

मेने हाँ कर दी पर मेने उसको बोला की मुझे फ्रेश होना हैं। उसने मुझे रूम में attach बाथरूम की तरफ इशारा किया। वो रूम इतना अच्छा था की बाथरूम का दरवाजा अगर कोई नहीं बताये तो पता ही नहीं चले की यहाँ दरवाजा हैं। जब मेने हल्का सा दरवाजा पुश किया तब मुझे कन्फर्म हुआ की ये दरवाजा हैं।

और मैं बाथरूम में घुस गया मेने मेरे बाकि सब काम निपटा कर मेने बाथरूम में देखा की केवल शावर हैं बाथटब नहीं। मुझे रिलेक्स होने के लिए गर्म पानी से नहाना था और मैं इतना थक गया था की बस तुरंत शावर के नीचे खड़ा हो गया और गर्म पानी चला दिया। आप इसे मेरी जल्दबाजी भी बोल सकते हैं या थकावट की वजह से और ऊपर टी शर्ट नहीं होने की वजह से मुझे ये ध्यान ही नहीं रहा की अभी मेने पुरे कपडे नहीं उतारे हैं। मैं जब तक ये महसूस करता तब तक शावर ने मुझे चारो तरफ से गिला कर दिया था (ये शावर ऊपर और ३ तरफ से पानी फेंकता था। )

मेरे कपडे अंदर तक गीले हो गए फिर भी मेने आराम से नहाने के लिए सारे कपडे उतार दिए और गर्म पानी के नीचे बॉडी शैम्पू से अच्छे से नहा कर शावर से बहार आ गया।

शावर से बहार आने के बाद मेने वहां रखे टॉवल से अपने शरीर को अच्छे से साफ़ किया पर अब मेरे लिए एक दूसरी प्रॉब्लम खड़ी हो गयी की अब मैं कपडे क्या पह्नु।

मैं इसी उलझन में था की बहार से दिशा ने नॉक किया और बोला की "shyam is everything fine "।

मैं थोड़ी लड़खड़ाती आवाज में बोला "हाँ सब ठीक हैं पर ...।

इस पर दिशा ने बोला की क्या हुआ तुम चाहो तो बता सकते हो। इस पर मेने मेरी प्रॉब्लम दिशा को बताई। मेरी बात सुनकर वो बहुत तेज़ तेज़ हंसी और फिर बोली के मेरे पास जेंट्स के कपडे तो नहीं हैं पर मैं तुम रुको मैं स्टोर में देखती हूँ की कुछ मिल जाये तो।

थोड़ी देर बाद दिशा ने वापस नॉक किया और बोला की श्याम प्लीज ये ले लो। मेने हल्का दरवाजा खोल कर दिशा के हाथ से कपडे ले लिए। जब मेने देखा तो वो एक धोती (लुंगी) थी। मेने दिशा के पास धोती देख कर पूछा की आपके पास धोती। तो उसने बताया की कभी कभी उसके मम्मी पापा यहाँ रहने आते हैं तो उनके कुछ कपडे यही रह गए थे वो मेने स्टोर में देखा तो ये दिखी और ये ले आयी। मेने वो लुंगी पहनी और रूम से बहार आ गया।

मेरे शरीर पर केवल एक लुंगी थी और मेने अंदर अंडरवियर भी नहीं पहना था। मैं जब बाहर आय तो मेने देखा की दिशा ने भी अब अपने कपडे चेंज कर लिए थे और उसने बहुत ही सूंदर नाईट ड्रेस पहनी थी।

दिशा के बाल अब पुरे खुले हुए थे और उसने लाइट लाल (गुलाबी) ड्रेस पहनी हुई थी उसकी ये ड्रेस उसके कंधो से होते हुए उसके घुटनो के थोड़े ऊपर तक की थी। उसके दोनों हाथ कंधो से लेकर हथेली तक ड्रेस में कवर थे। उसके बूब्स को साइड से कवर करते हुए नीचे तक लिपटी हुई सी थी। उसके दोनों बूब्स के बीच की घाटी दिख रही थी। ये ड्रेस दिशा की कमर से होते हुए एक डोरी से उसकी पीठ के पीछे बंधी हुई थी।

ये ड्रेस पहले वाली ड्रेस के मुकाबले इतनी टाइट नहीं थी पर बूब्स के आस पास वैसे ही टाइट थी। जिससे साफ़ पता चल रहा था की हो ना हो दिशा ने अंदर ब्रा तो नहीं पहनी हैं।

उसके इस रूप को देख कर मेरा लन्ड महाराज थोड़ा तनाव में आने लगा और मुझे पता था की मेने लुंगी पहनी हैं और हल्का सा तनाव भी उसको साफ़ साफ़ दिखाई दे सकता हैं। इसलिए मैं तुरंत बेड पर आ कर बेथ गया। दिशा अब भी मेरे ऊपर के नंगे बदन को देख रही थी और थोड़ा शर्मा भी रही थी (ऐसा मुझे लगा)। फिर उसने मुझे ड्रिंक ऑफर करि जो मेने एक ही घुट में पी गया (मैं थोड़ा नर्वस था) ।

उसने मुझे एक ही घुट में वाइन पीते देख मुझे बोतल से मेरी गिलास को भरने लगी और मेरे मना करने से पहले ही गिलास वापस पहले जितना भर दिया।

अब हम दोनों आज के इंसीडेंट के बारे में बात करना लगे और मेने उसको बोला की मैं कल सुबह होते ही निकल जायूँगा ताकि उसको मेरी तरफ से कोई प्रॉब्लम न हो। और ऐसे ही बात करते करते २:३० बज चुके थे और हम दोनों को नींद आने लग गयी थी कुछ तो वाइन का नशा था और कुछ थकावट भी।

दिशा मुझे गुड नाईट बोल कर अपने रूम में चली गयी और मैं भी थोड़ी देर उसके सपने देखते हुए बेड पर करवट बदलते हुए सो गया।

अगली सुबह मेरी नींद थोड़े से लाउड म्यूजिक से खुल गयी और मैं बिस्तर से नीचे उतर के रूम के बाहर आ गया। म्यूजिक शायद उसके हॉल की तरफ से आ रहा था और मैं उधर ही चला गया। तो देखा दिशा वर्कआउट कर रही थी और उसने स्पोर्ट्स ब्रा और निकर पहना था।

उन कपड़ो में जब वो वर्क आउट कर रही थी तो उसका पूरा शरीर के कट साफ़ साफ़ दिख रहे थे। दिशा ने पर्पल रंग की स्पोर्ट ब्रा और नीले रंग का निक्कर पहना था। और उसका गौरा पेट और एब्स, उसकी सेक्सी नाभि के साथ बहुत मस्त लग रहे थे। दिशा जब भी नीचे झुकती तो उसके नितम्ब बहार को निकल आते थे। मैं उसको वर्कआउट करते हुए उसके सेक्सी बदन में पूरा खो गया। और मुझे पता ही नहीं चला की कब दिशा ने मुझे देखा और कब नहीं।

अचानक म्यूजिक बंद होने से मैं होश में आया तो पाया की दिशा मेरी तरफ तो देख रही हैं पर मेरे चेहरे की तरफ न देख कर नीचे की तरफ देख रही हैं। मुझे अभी भी स्तिथि का भान नहीं था और जब मेने उसकी नजरों का पीछा किया और नीचे देखा तो मेरा लन्ड पुरे शवाब में तो। वो इतना तना हुआ था की उसने लुंगी को हवा उठा दिया था। मुझे ये भी ध्यान नहीं रहा की एक तो मेने लुंगी पहनी हैं और दूसरा पहले से ही सुबह सुबह लन्ड महाराज एकदम खड़ी मुद्रा में रहते हैं और दिशा को वर्कआउट करते देख ये और ज्यादा तनाव में आ गया था।

मैं शर्म से एक दमलाल हो गया और सॉरी बोलते हुए अपने रूम की तरफ भाग गया और सीधा बाथरूम में जाकर ही रुका।

To be Continued

Reply
Satish Kumar
Posts: 1092
Admin
Topic starter
Member
Joined: 1 year ago

अचानक म्यूजिक बंद होने से मैं होश में आया तो पाया की दिशा मेरी तरफ तो देख रही हैं पर मेरे चेहरे की तरफ न देख कर नीचे की तरफ देख रही हैं। मुझे अभी भी स्तिथि का भान नहीं था और जब मेने उसकी नजरों का पीछा किया और नीचे देखा तो मेरा लन्ड पुरे शवाब में तो। वो इतना तना हुआ था की उसने लुंगी को हवा उठा दिया था। मुझे ये भी ध्यान नहीं रहा की एक तो मेने लुंगी पहनी हैं और दूसरा पहले से ही सुबह सुबह लन्ड महाराज एकदम खड़ी मुद्रा में रहते हैं और दिशा को वर्कआउट करते देख ये और ज्यादा तनाव में आ गया था।

मैं शर्म से एक दमलाल हो गया और सॉरी बोलते हुए अपने रूम की तरफ भाग गया और सीधा बाथरूम में जाकर ही रुका।

दिशा पाटनी की चुदाई लॉकडाउन में | Disha Patani Ki Chudai Lockdown Me | EP 5

मेने बाथरूम में जाकर पहले लुंगी उतार फेंकी और मेरे लन्ड को शांत करने के लिए मुठ मारने लगा। तक़रीबन १०-१५ मिनट मुठ मारने के बाद मेरे लन्ड ने वीर्य उगला जो सीधा बाथरूम के फर्श पर जा गिरा। जब मुठ निकल गया तो मेने आँखे खोली और मुझे लगा जैसे कोई बाथरूम के दरवाजे पर था और मुझे देख रहा था (मेने जल्द बाज़ी में रूम और बाथरूम दोनों का दरवाजा बंद नहीं किया था)। और मुझे आदत भी नहीं हैं मैं अकेला ही रहता आया हूँ और होटल में भी अकेला ही रहता हूँ तो दरवाजा बंद करने की आदत नहीं हैं।

इसके बाद मेने दिनचर्या के कामों से मुक्त हो कर नहा कर रात में सुखाया हुआ अंडरवियर तो पहन लिया पर मेरी पेंट अभी भी अच्छे से नहीं सुखी थी और आयरन करने से भी नहीं सुख सकती थी। मेने ुंडेरवार के ऊपर वापस लुंगी पहन ली और बाथरूम से बाहर आ गया।

अब मैं थोड़ा ज्यादा नर्वस था की दिशा के सामने कैसे जाऊ क्योंकि अभी जिस हालत में उसने मुझे देखा था उसके बाद पता नहीं वो क्या करेगी और क्या कहेगी।

इसी उलझन में था की उसकी आवाज आयी की "श्याम अगर बाहर आ गए हो तो आ जाओ नाश्ता कर लेते हैं और मुझे तुमसे कुछ जरुरी बात भी करनी हैं। " उसकी जरुरी बात करने वाली बात सुन कर मेरी हवा टाइट हो गयी फिर भी मैं डरते सहमते रूम से बाहर निकल कर हॉल मैं आ गया।

उसने एक बार मेरी तरफ ऊपर से नीचे की तरफ देखा और उसके बोलने से पहले ही मैं बोल दिया की मेरी टी शर्ट तो ख़राब पड़ी हैं और पेंट अभी सुखी नहीं हैं। तो उसने मेरी तरफ देखते हुए बोला की तो क्या अब तुम २१ दिन केवल इनर गारमेंट में ही यहाँ रहोगे।

मैं थोड़ा झेंप गया पर फिर उसकी बातों पर ध्यान दिया और पूछा की "२१ दिन?" मैं तो आज यहाँ से होटल चला जायूँगा।

तो उसने बोला की नहीं जा पाओगे, मेरे ड्राइवर का कॉल आया था की मेम ये नाकाबंदी बहुत सख्त हैं और वो कार ले कर नहीं आ सकता हैं। उसने आगे बोला की "मेने पता करवाया हैं कोई घर से बाहर भी नहीं निकल सकता हैं और न कोई टैक्सी वैगरह चल रही हैं।

उसने मुझे इशारे से बालकनी की तरफ जाने को कहा और बोली की "तुम खुद ही देख लो बालकनी से रोड को। "

मेने उसकी बालकनी से मुंबई की सड़के देखि जो बिलकुल सुनसान पड़ी थी और एक्का दुक्का केवल पुलिस वालों की गाड़ियां और पुलिस वाले ही दिख रहे थे।

मैं वापस उसकी तरफ मुड़ा और बोला की ये तो बड़ी समस्या हो गयी हैं अब हम क्या करेंगे। इस पर दिशा ने बोला की मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं होगी पर तुम्हे कुछ रूल्स फॉलो करने होंगे।

१ तुम बिना पूछे मेरे कमरे में नहीं आओगे

२ वैसे तुम मुझे शरीफ लगते हो लेकिन फिर भी कोई बतमीजी या गलत हरकत नहीं

३ ये बात तुम कही भी नहीं बताओगे की तुम मेरे साथ २१ दिन एक ही घर में रुके

४ तुम मेरा कोई भी फोटो नहीं लोगे बल्कि तुम अपना मोबाइल मेरे पास जमा करवा दो २१ दिनों के लिए

५ और सबसे आखिरी सुबह बाहर आने से पहले अपने इस (लन्ड) को शांत करके आओगे।

मेने सभी बातों में हाँ करा पर लास्ट वाली बात में जानबूझ कर अनजान बनते हुए बोला की "किसको?"

इस पर दिशा ने बड़ी मासूमियत से मेरे लन्ड की तरफ इशारा करके कहा। मेने तुरंत बोला ओह्ह आप इसकी बात कर रहे हैं पर मैं इसका क्या कर सकता हूँ ये तो नेचुरल हैं और सुबह सुबह ऐसे ही होता हैं।

इस पर दिशा ने थोड़ा झलाते हुए बोली हाँ पर इसको शांत तो कर ही सकते हो न। मेने वापस उसके मजे लेने के लिए बोल दिया की वो कैसे करूँगा।

इस पर दिशा एक दम गुस्से में मेरी तरफ देख कर बोली "जैसे अभी तुमने इसको बाथरूम में किया। वैसे कर लेना। '

और वो बोलते ही झेंप गयी और मेने उसकी चोरी पकड़ ली की अभी मुझे बाथरूम में उसी ने देखा था।

और अब दिशा शर्म से लाल हो गयी थी।

मेने उसको ज्यादा नहीं छेड़ते हुए नाश्ता करने टेबल पर बैठ गया और अब मेने और दिशा ने साथ में नाश्ता किया। पर दोस्तों एक बात हैं दिशा बहुत ही एक्टिव और हेल्थ कौन्सियस हैं और पुरे दिन कुछ न कुछ करती रहती हैं।

To be Continued

Reply
Page 1 / 3

Join Free ! Unlock Premium Feature

Recent Posts